उपचुनाव के रूझानों में नहीं चला मोदी मैजिक

RSTV Bureau

13 सितंबर को  हुए 10 राज्‍यों की तीन लोकसभा और 33 विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव के नतीजों के रुझान आने शुरू हो गए हैं. अब तक के रूझानोंamit_shah में उत्तर प्रदेश में भाजपा को भारी नुकसान झेलना पड़ा है. यूपी की 11 विधानसभा सीटों में से 9 पर समाजवादी पार्टी बढ़त बनाये हुए है जबकि भाजपा मात्र 2 सीटों पर आगे चल रही है. राज्‍य की मैनपुरी लोकसभा सीट पर सपा प्रत्‍याशी तेज प्रताप यादव आगे चल रहे हैं. वाराणासी की रोहनिया विधानसभा सीट पर सपा आगे चल रही है. रोहनिया विधानसभा सीट प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लोकसभा क्षेत्र वाराणसी के तहत आता है. यहां से भाजपा की सहयोगी पार्टी अपना दल चुनाव लड़ रही.

उधर, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के गृह राज्य गुजरात की 9 विधानसभा सीटों में से 3 सीटें बीजेपी और 2 सीटें कांग्रेस ने जीती ली हैं जबकि बाकी बची 4 सीटों पर कांग्रेस बढ़त बनाये हुए है. गुजरात की एक मात्र लोकसभा सीट वड़ोदरा पर बीजेपी काफी आगे चल रही है. राजस्‍थान की 4 विधानसभा सीटों में से एक कोटा विधानसभा सीट भाजपा की झोली में आ गिरी है जबकि बाकि बची 3 सीटों में से 2 पर कांग्रेस और 1 पर भाजपा बढ़त बनाये हुए हैं. असम में तीन सीटों में से एक पर एआईयूडीएफ, एक पर बीजेपी और एक पर कांग्रेस आगे चल रही है. पश्चिम बंगाल में दो सीटों में से एक पर तृणमूल कांग्रेस और एक पर भाजपा बढ़त बनाये हुए है.

दिग्‍गजों की सीटों पर फैसला

जिन तीन लोकसभा सीटों पर उपचुनाव हुए थे वे गुजरात की वडोदरा, उत्‍तर प्रदेश की मैनपुरी और तेलंगाना की मेंडक सीट हैं. इन सीटों मे से वड़ोदरा से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, मैनपुरी से समाजवादी पार्टी प्रमुख मुलायम सिंह यादव और मेड़क सीट से तेलंगाना राष्‍ट्र समिति प्रमुख के चंद्रशेखर राव ने चुनाव लड़ा था. दरअसल, मोदी ने इस साल का लोकसभा चुनाव वाराणसी और वडोदरा, दोनों जगहों से लड़ा था और जीत दर्ज की थी. बाद में उन्‍होंने वाराणसी सीट अपने पास रखकर वडोदरा सीट छोड़ दी. मुलायम भी दो जगहों, आजमगढ़ और मैनपुरी से लड़े थे और जीत दर्ज की थी. उन्‍होंने आजमगढ़ सीट अपने पास रखी और मैनपुरी से इस्तीफा दे दिया था. उधर, मेंडक सीट को तेलंगाना राष्‍ट्र समिति प्रमुख के चंद्रशेखर राव ने तेलंगाना का मुख्यमंत्री बनने के बाद छोड़ दिया था.

यूपी: रुझानों में नहीं चली मोदी लहर

इस साल लोकसभा चुनाव में यूपी जबर्दस्‍त मोदी लहर चली थी जिसके चलते बीजेपी और उसके सहयोगियों ने यूपी की 80 लोसकभा सीटों में से 73 सीटें जीती थी. चुनावों के नतीजों के बाद यूपी लोकसभा चुनाव के प्रभारी  प्रधानमंत्री मोदी के करीबी अमित शाह को पार्टी की कमान सौंपी गई थी.उपचुनाव के परिणामों के बाद पता चलेगा कि मोदी के सिपहसालार की सलाह को जनता ने माना या नहीं और क्या मोदी मैजिक अभी भी कायम है.

क्या कायम रहेगा मुलायम का जलवा

ये नतीजे उत्‍तर प्रदेश में मुलायम सिंह यादव की प्रतिष्‍ठा का भी फैसला करेंगे. मैनपुरी सीट को काफी अहम माना जा रहा है, क्‍योंकि यह मुलायम की पारंपरिक सीट है. यहां से मुलायम के बड़े भाई के पोते तेज प्रताप यादव  चुनाव मैदान में हैं. और उनकी जीत या हार से मुलायम के जादू का पता चलेगा.

इन 33 विधानसभा सीटों पर हुए थे उपचुनाव

जिन 33 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव हुए थे, उनमें यूपी की 11, गुजरात की 9, राजस्थान की 4, असम की 3, पश्चिम बंगाल की 2 और आंध्र प्रदेश, सिक्किम, त्रिपुरा, छत्तीसगढ़ की 1-1 सीट शामिल हैं.