कराची फिर बना चरमपंथियों का निशाना

RSTV Bureau

karachi_blastपाकिस्तान के कराची शहर में मंगलवार को एयरपोर्ट सुरक्षा कैंप पर आतंकवादियों ने अंधाधुंध फायरिंग कर हमला किया. ये हमला जिन्ना अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से सटे एयरपोर्ट सिक्योरिटी कैंप पर किया गया.

हमले में किसी के हताहत होने की खबर नहीं है लेकिन दो दिन पहले हमले से दहले कराची में सुरक्षा एजेंसियों को धता बताते हुए चरमपंथियों की इस कार्रवाई ने लोगों में दहशत को और फैला दिया है.

हमले की ज़िम्मेदारी पाकिस्तान के चरमपंथी संगठन तहरीक-ए-तालिबान ने ली है.

कराची हवाई अड्डे पर आतंकवादियों का ये दूसरा हमला है. इससे पहले रविवार रात को आतंकवादियों ने एयरपोर्ट पर एक बड़े हमले को अंजाम दिया था जिसमें अब तक 37 जानें जा चुकी हैं.

एयरपोर्ट सिक्योरिटी फोर्स कैंप के प्रवक्ता ताहिर अली के मुताबिक एयरपोर्ट से सटे सुरक्षा कैंप नंबर 2 पर 4 अज्ञात बंदूकधारियों ने फायरिंग शुरु कर दी. इसके बाद सुरक्षा बलों ने भी जवाबी कार्रवाई शुरु की. कुछ देर तक दोनों तरफ से हुई फायरिंग के बाद हमलावर फरार हो गए.

इस बीच कैंप के करीब बम धमाके की आवाज़ें भी सुनी गईं जिससे आसपास के इलाके में दहशत का माहौल पैदा हो गया. हालांकि इस हमले में किसी के हताहत होने की खबर नहीं है. तहरीक-ए-तालिबान के उमर खोरासानी ने ट्विटर के हवाले से इस दूसरे हमले की ज़िम्मेदारी ली है.

ताहिर अली के मुताबिक हमले के बाद इलाके में बड़ी तादाद में अर्द्धसैनिक बलों को तैनात कर दिया गया है और रेंजर्स के द्वारा आसपास के इलाके में सघन तलाशी अभियान चलाकर हमलावरों को खोजने का काम जारी है.

साथ ही जिन्ना अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर कड़ी सुरक्षा का बंदोबस्त भी किया गया है और क्षेत्र को हवाई निगरानी के तहत रखा गया है. हवाई अड्डे के करीब हुए लगातार दूसरे हमले के बाद कराची आने-जाने वाली उड़ानों को भी रद्द करना पड़ा है.

इससे पहले रविवार देर रात आतंकवादियों ने कराची एयरपोर्ट पर हमला किया था. सुरक्षा बलों और आतंकवादियों के बीच करीब 12 घंटे तक चली मुठभेड़ में मरनेवालों की तादाद बढ़कर 37 हो गई है.

जानकारी के मुताबिक इस हमले को भी तहरीक-ए-तालिबान के दहशतगर्दों ने अंजाम दिया था.