क़ीमत बढ़ने से परेशान होने की ज़रूरत नहींः वित्तमंत्री

RSTV Bureau

arun_jaitleyवित्तमंत्री अरुण जेटली ने शुक्रवार को खाद्य मुद्रास्फीति के लिए जमाखोरों को ज़िम्मेदार ठहराते हुए कहा कि स्थिति फिलहाल चिंताजनक नहीं है. उन्होंने राज्यों से कहा कि वे जमाखोरी और कालाबाज़ारी के ख़िलाफ़ कड़े कदम उठाएं.

अरुण जेटली ने खाद्य मुद्रास्फीति पर आयोजित एक कार्यक्रम में कहा कि खाद्य वस्तुओं का उत्पादन बीते साल से अधिक है फिर भी कीमतें बढ़ रही हैं. इसका मतलब कहीं न कहीं जमाखोरी का काम चल रहा है.

अरुण जेटली ने कहा कि इस वर्ष सामान्य से कम बारिश होने की आशंका है इसलिए जमाख़ोर इसका फ़ायदा उठा रहे हैं. उन्होंने कहा कि परेशान होने जैसी कोई बात नहीं है क्योंकि पिछले वर्ष की तुलना में इस वर्ष कई सामानों की क़ीमत अभी भी कम है.

वित्तमंत्री ने कहा कि बिचौलियों एंव जमाखोरों से सामान निकालना एक चुनौतीपूर्ण काम है.

वित्तमंत्री जेटली ने राज्य सरकारों से पुरे मामले पर समस्याओं का आकलन करने को कहा हैक्योंकि महंगाई बढ़ने के बाद कार्रवाई करने पर बाज़ार में अराजकता का माहौल बन सकता है.

वित्तमंत्री खाद्य मुद्रास्फीति पर नियंत्रण के मामले में शुक्रवार को दिल्ली में आयोजित राज्यों के खाद्य एवं उपभोक्ता मामलों के मंत्रियों के सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे. इस मौके पर खाद्यमंत्री रामविलास पासवान और कृषिमंत्री राधामोहन सिंह भी मौजूद थे.

मंत्री ने कहा कि इराक़ में तनाव की वजह से कच्चे तेल की क़ीमत बढ़ी हैं लेकिन ऐसी उम्मीद है कि क़ीमत जल्द ही घट जाएंगी.