कोरोना: सीमा सील करें राज्य सरकारें, मजदूरों के पलायन पर केंद्र का सख्त निर्देश

RSTV Bureau
File Photo-Migrants travelling back to their homes. (PTI Photo)

File Photo-Migrants travelling back to their homes. (PTI Photo)

कोरोना वायरस लॉकडाउन की वजह से पलायन को देखते हुए केंद्र सरकार ने सख्त रवैया अपनाया है। केंद्र ने राज्यों से लॉकडाउन के दौरान प्रवासी मजदूरों की आवाजाही को रोकने के लिए राज्य और जिलों की सीमा को प्रभावी तरीके से सील करने को कहा है। इसके साथ ही केंद्र ने राज्यों को यह सुनिश्चित करने को कहा है कि प्रवासी मजदूरों के लिए उनके काम करने की जगह पर ही सभी तरह की सुविधाएं दी जाएं। साथ ही , मजदूरों को समय पर उनके वेतन का भुगतान हो… इसके लिए भी राज्यों को निर्देश जारी किए गए हैं। राज्यों को उनलोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने को कहा गया है, जो छात्रों अथवा मजदूरों से मकान खाली करने को कहता है।

कोरोना वायरस लॉकडाउन से उपजे हालातों के बीच पीएम मोदी ने रविवार को मन की बात कार्यक्रम को संबोधित किया। पीएम मोदी ने सबसे पहले लॉकडाउन की वजह से लोगों को हो रही परेशानियों के लिए माफी मांगी और कहा कि यह देश और देशवासियों को बचाने के लिए जरूरी था। पीएम मोदी ने मन की बात कार्यक्रम में कहा कि कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई जीवन और मृत्यु के बीच की लड़ाई है और हमें इस जंग तो जीतना ही होगा। उन्होंने कहा कि अभी जो हालात हैं, उसमें आप सभी को सोशल डिस्टेंसिंग बढ़ाने और इमोशनल डिस्टेंसिंग घटाने की जरूरत है।
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने दुनिया भर में महामारी का रूप ले चुके कोरोना वायरस ‘कोविड-19′ से निर्णायक लड़ाई के लिए 24 मार्च की आधी रात से समूचे देश में 21 दिन के लॉकडाउन की घोषणा की थी। पीएम मोदी ने देशवासियों से हाथ जोड़कर विनती की कि वे अपने घर से बाहर बिल्कुल न निकलें क्योंकि इस जानलेवा वायरस के संक्रमण की श्रंखला को तोड़ने का यही एक मात्र रास्ता है।