ग़ज़ा पर इज़राइली हमले जारी, मरने वालों की संख्या 572

RSTV Bureau

gaza_strikeइज़राइल ने ग़ज़ा पर भीषण बमबारी करते हुए हमास द्वारा की जा रही घुसपैठ की बड़ी कोशिश को नाकाम कर दिया है. इज़राइली सैनिकों और हमास के बीच पिछले 14 दिनों से जारी भीषण संघर्ष ने अब तक 572 फ़लस्तीनी और 27 इज़राइली नागरीकों की जान ले ली है.

अमरीका और संयुक्त राष्ट्र संघ ने फ़ौरन संघर्ष विराम लागू करने का अहवान किया है.

अब तक के ग़ज़ा पर इज़राइल के अत्यंत भीषण और जानलेवा हमलों के महज़ एक दिन बाद दक्षिण-इज़राइल में घुसपैठ की कोशिश कर रहे हमास के 10 चरमपंथियों को इज़राइली सैनिकों ने मार गिराया.

इज़राइली सेना के मुताबिक हमास के दो समूहों ने उत्तरी ग़ज़ा में सुरंगों के ज़रिए हमला करने की कोशिश की लेकिन इज़राइली सुरक्षाबलों ने तुरंत इनकी पहचान कर उन्हें रोकने के लिए विमान भेज दिया.

इज़राइली सेना ने बताया कि पहले समूह पर हवाई हमला किया गया जिसमें हमास के 10 चरमपंथी मारे गए.

हमास के दूसरे समूह ने ग़ज़ा के उत्तर-पूर्वी क्षेत्र निराम-किबुज कि तरफ़ जाने की कोशिश की जहां उनकी इज़राइली सैनिको से जबर्दस्त मुठभेड़ हुई, जहां उन्होंने टैंक विरोधी हथियारों का भी प्रयोग किया. इजराइली सेना ने ज़्यादा जानकारी न देते हुए बस इतना बताया की हमारे कई सैनिक घायल हुए हैं.

फ़लस्तीनी चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि इज़राइल द्वारा हाल में हुए ग़ज़ा के एक मकान पर हवाई हमलों में चार बच्चों समेत कुल आठ लोग मारे गए है. मध्य ग़ज़ा के देर अल-बला स्थित एक अस्पताल पर गोलीबारी में पांच लोगों के मारे जाने के बाद यह हमला हुआ.

एक स्वास्थ अधिकारी ने बताया कि खान यूनिस शहर के पास इज़राइली हवाई हमलों के बाद मलबे से तकरीबन 20 शवों और दो ज़िंदा लोगों को निकाला गया है. अधिकारी ने बताया कि अब तक 3100 से ज़्यादा फ़लस्तीनी नागरीक ज़ख्मी हो चुके हैं.

मंगलवार को इज़राइली सेना ने बताया कि आठ जुलाई को शुरु हुए ‘अपरेश्न प्रोटेक्टिव एज’ के बाद अब तक कुल 25 इज़राइली सैनिकों समेत 27 इज़राइलियों की मौत हो चुकी है.

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने सोमवार देर रात बढ़ती मृतकों की संख्या पर गंभीर चिंता जताते हुए ग़ज़ा पट्टी पर तुरंत युद्ध विराम करने का अह्वान किया.