दिल्ली-डिब्रूगढ़ राजधानी एक्सप्रेस पटरी से उतरी, पांच की मौत

RSTV Bureau

railway_accidentबिहार के छपरा में दिल्ली-डिब्रूगढ़ राजधानी एक्सप्रेस की 12 बोगियां पटरी से उतर गईं जिसके कारण पांच लोगों की मौत हो गई और नौ लोग घायल हुए है.

यह हादसा रात तक़रीबन सवा दो बजे के आस-पास छपरा के गोल्डनगंज स्टेशन के पास हुआ. रेलवे ने कहा कि इस हादसे के पीछे साज़िश की आशंका से इंकार नहीं किया जा सकता है. रेलवे ने इस हादसे के पीछे माओवादियों के होने की अशंका जताई है.

गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि दिल्ली–डिब्रूगढ़ राजधानी एक्सप्रेस के हादसे के लिए माओवादियों को ज़िम्मेदार ठहराना जल्दबाज़ी होगी.

घटना स्थल पर पहुंचे छपरा के सांसद राजीव प्रताप रुढ़ी ने पत्रकारों से कहा कि पटरी कटी हुई है, इसकी जांच के बाद ही मामला साफ़ हो पाएगा कि यह साज़िश है या नहीं. इस मामले की जांच गुरुवार से शुरु होगी. स्थानीय पुलिस प्रशासन नें इस हादसे में किसी भी प्रकार की साज़िश की आशंका से इंकार कर दिया है.

रुढ़ी ने बताया की इस मामले की पुरी जानकारी प्रधानमंत्री को दे दी गई है और सभी एहतियाती क़दम उठाए जा रहे हैं.

हादसे के बाद पूर्व-मध्य रेलवे के जीएम मधुरेश कुमार ने बताया कि बुधवार शाम तक इस रुट को बहाल कर दिया जाएगा.

रेलमंत्री सदानंद गौड़ा ने मृतकों के परिजनों को दो लाख रुपये, घायल हुए लोगों को एक लाख और आंशिक रुप से घायल लोगों को 20 हज़ार रुपये देने की घोषणा की है. घटना स्थल का जायज़ा लेने के लिए रेलमंत्री सदानंद गौड़ा घटना स्थल के लिए रवाना हो चुके है.

पूर्व रेलमंत्री लालू प्रसाद ने सरकार पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए कहा कि  “राम भरोसे चल रहा है रेलवे”.

रेलवे बोर्ड के चेयरमैन अरुणेंद्र कुमार ने बताया कि बिहार के मोतीहारी में भी एक मालगाड़ी के 18 डिब्बे पटरी से उतर गए है. उन्होंने बताया की इस इलाके में नक्सलियों ने 24 व 25 जून को बंद का आहवान किया था, ऐसे में किसी साजिश से इंकार नहीं किया जा सकता.

घायल हुए यात्रियों को छपरा के सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है, इसके साथ ही रेलवे की मेडिकल टीम भी मौके पर रवाना हो गई है.

इस हादसे के बाद रेलवे ने हेल्पलाईन नंबर जारी किए है जो इस प्रकार है-

वाराणसी- 0542−2226778, 2224742

लखनऊ-09794830976,

नई दिल्ली-011−23342954 030−22280,

छपरा-06152−243409,

हाजीपुर-06224−272230