श्रीहरिकोटा से पीएसएलवी सी-23 का सफल प्रक्षेपण

RSTV Bureau

pslv_launch265श्रीहरिकोटा प्रक्षेपण केंद्र पर ध्रुवीय उपग्रह प्रक्षेपण यान पीएसएलवी सी-23 का सफलता पूर्वक प्रक्षेपण  सोमवार सुबह भारतीय समयानुसार तक़रीबन 9 बजकर 52 मिनट पर किया गया.

इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी श्रीहरिकोट स्पेस सेंटर में मौजूद थे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वैज्ञानिको को उनकी इस कामयाबी के लिए बधाई दी.

उन्होंने इस अवसर पर कहा, “इस प्रक्षेपण यान पीएसएलवी सी-23 के सफल प्रक्षेपण ने हर भारतीय के हृदय को हर्ष और गर्व से भर दिया है”.

प्रधानमंत्री इस पूरे मंज़र को सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से देख रहे थे. उन्होंने इस अवसर पर सार्क देशों के लिए एक सेटेलाइट विकसित करने का आहवान भी किया.

इस उपग्रह यान के मार्फ़त5 विदेशी सैटेलाइट अंतरिक्ष में भेजे गए, जिनमें सबसे अहम सैटेलाइट, फ्रांस का “स्पॉट−7”  है. इसके अलावा कनाडा, जर्मनी व सिंगापुर के चार अन्य उपग्रहों को भी अंतरिक्ष में भेजा गया.

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने कहा है कि प्रक्षेपण अनुमति बोर्ड ने अपने एक अहम फ़ैसले में पीएसएलवी सी 23 के प्रक्षेपण की अनुमति प्रदान की है.

इसरो ने कहा कि पहले इस उपग्रह यान का प्रक्षेपण 30 जून को सुबह 9:49 बजे किया जाना था लेकिन बाद में इसका प्रक्षेपण समय तीन मिनट आगे बढ़ा दिया गया.

श्रीहरिकोटा प्रक्षेपण केंद्र चेन्नई से तक़रीबन 100 किलोमीटर की दूरी पर है. इसरो अब तक कुल 35 उपग्रहों का प्रक्षेपण कर चुका है.

इसरो 2012 में भी फ्रांस का एक सैटेलाइट अंतरिक्ष में भेज चुका है. पीएसएलवी की यह 27 वी उड़ान है.