भारत-रूस के बीच 16वीं सालाना शिखर वार्ता

RSTV Bureau

Photo (PTI)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के बीच मॉस्को में गुरुवार शाम 16वीं सालाना शिखर वार्ता हुई। मॉस्को के क्रेमलिन में नरेंद्र मोदी और व्लादिमीर पुतिन की मुलाकात के बाद शिखर सम्मेलन की शुरुआत हुई। शिखर वार्ता में दोनों नेताओं के बीच कई अहम मुद्दों पर बातचीत हुई। भारत और रूस के बीच वार्ता में रक्षा, ऊर्जा और कृषि व्यापार के क्षेत्र में सहयोग के अलावा आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई और संयुक्त राष्ट्र में सुधार का मुद्दा भी शामिल है। दोनों देशों के खास रणनीतिक संबंधों के तहत साल 2000 से मॉस्को और नई दिल्ली में बारी-बारी से हर साल ये द्विपक्षीय वार्ता होती है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुरुवार रात उद्योगपतियों से मुलाकात के अलावा भारतीय और रूसी लोगों की एक संयुक्त सभा को भी संबोधित करेंगे. भारत और रूस दस साल में आपसी व्यापार को तीन गुना करना चाहते हैं. अभी सालाना व्यापार 10 अरब डॉलर से भी कम है जिसे बढ़ाकर 30 अरब डॉलर तक ले जाने का लक्ष्य है.

प्रधानमंत्री ने गुरुवार को द्वितीय विश्व युद्ध में शहीद हुए सोवियत सैनिकों की याद में मॉस्को में बनाए गए स्मारक पर जाकर पुष्पचक्र भी अर्पित किया। इससे पहले बुधवार देर शाम मॉस्को पहुंचने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का शानदार स्वागत किया गया. राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने अपने आधिकारिक आवास क्रेमलिन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मेजबानी की. दोनों नेताओं ने भारत-रूस के परस्पर हितों के मुद्दों पर चर्चा की. व्लादिमीर पुतिन ने नरेंद्र मोदी के सम्मान में रात्रिभोज का आयोजन भी किया. भोज के दौरान व्लादिमिर पुतिन ने उन्हें महात्मा गांधी की डायरी का एक पन्ना और 18वीं सदी की भारतीय तलवार भी भेंट की.