रमादी पर इराकी सेना का क़ब्ज़ा, आईएस के खिलाफ बड़ी जीत

RSTV Bureau
Symbolic Image ( PTI )

Symbolic Image ( PTI )

इराकी सैनिक महीनों की मेहनत के बाद रमादी शहर को आईएस आतंकियों के क़ब्ज़े से छुड़वाने में कामयाब रहे. इराकी सेना ने दावा किया है कि आईएस के लड़ाके प्रशासनिक इमारतों से पीछे हट गए हैं और रमादी पूरी तरह उनके नियंत्रण में आ गया है. संयुक्त अभियान कमान के ब्रिगेडियर जनरल याहया रसूल ने सोमवार को सरकारी टेलीविजन पर रमादी की प्रशासनिक इमारत पर इराकी झंडा फहराने की सूचना भी दी.

पश्चिमी प्रांत अनबर की राजधानी रमादी बगदाद से 90 किलोमीटर दूर है. आईएस आतंकियों ने इसी साल मई में रमादी पर पूरी तरह क़ब्ज़ा कर लिया था. इसे इराकी सेना की शर्मनाक और मनोबल तोड़ने वाली हार माना गया था. सेना ने नवंबर की शुरुआत में आईएस को खदेड़ने के लिए अभियान शुरू किया था और पिछले कुछ दिनों से उसने रमादी शहर को घेर रखा था. इराकी सेना के प्रवक्ता सबाह अल नुमानी के मुताबिक रमादी की प्रशासनिक इमारतें पूरी उनके नियंत्रण में हैं. सेना ने रविवार को रमादी के आठ जिलों पर नियंत्रण कर लिया था. इराकी गठबंधन सेना को इस अभियान में अमेरिकी वायुसेना का भी साथ मिला.

सेना ने रमादी पर कब्जे को लेकर संघर्ष में हताहत हुए लोगों के बारे में फिलहाल जानकारी नहीं दी है. हालांकि उसका कहना है कि अभियान से पहले ज्यादातर नागरिकों को यहां से निकाल लिया गया था.

आईएस के क़ब्ज़े से छूटने वाला रमादी इराक का दूसरा मुख्य शहर है. सेना ने इससे पहले मार्च के अंत में उत्तरी इराक के शहर तिकरित को छुड़ाया था. इराक सरकार के मुताबिक उनका अगला लक्ष्य मोसुल है. इराक और सीरिया में आईएस के क़ब्ज़े वाले शहरों में मोसुल सबसे ज्यादा आबादी वाला शहर है. आईएस आतंकियों ने जून 2014 से मोसुल पर क़ब्ज़ा कर रखा है.

आईएस को खत्म करने की रणनीति बनाने के लिए अमेरिकी रक्षा मंत्री एश्टन कार्टर 16 दिसंबर को बगदाद आए थे. कार्टर ने अमेरिकी सैन्य कमांडरों के साथ आईएस आतंकियों के खिलाफ हमले तेज करने के तरीकों पर बात की थी. आतंकी संगठन आईएस ने सीरिया और इराक के कई क्षेत्रों में क़ब्ज़ा कर रखा है.