वित्तमंत्री अरुण जेटली ने पेश किया दिल्ली का बजट

RSTV Bureau

arun_jaitleyवित्तमंत्री अरुण जेटली ने शुक्रवार को लोकसभा में चालू वित्तीय वर्ष 2014-15 के लिए दिल्ली का बजट पेश किया. राष्ट्रपति शासन के अधीन दिल्ली के लिए वित्तमंत्री ने 36,776 करोड़ रुपए का बजट पेश किया.

दिल्ली के 2014-15 के बजट में कोई नया कर नहीं लगाया गया है.

वित्तमंत्री ने कहा कि कम खपत वाले बिजली उपभोक्ताओं को राहत देने के लिए चालू वित्तीय वर्ष में 260 करोड़ रुपए की बिजली सब्सिडी दी गई है.

उन्होंने बताया कि 200 यूनिट तक मासिक खपत वाले उपभोक्ता को 1.20 रुपए प्रति यूनिट और 201 से 400 यूनिट तक मासिक उपयोग करने वाले बिजली उपभोक्ता को 80 पैसे प्रति यूनिट की सब्सिडी दी जाएगी.

वित्तमंत्री ने कहा कि दिल्ली के रोहिणी में अत्याधुनिक अस्पताल स्थापित किया जायेगा, साथ ही दिल्ली के विभिन्न इलाकों में 50 डायलिसिस केंद्र भी खोले जाएंगे.

गौरतलब है कि दिल्ली में राष्ट्रपति शासन होने की वजह से राज्य का बजट संसद में पेश किया गया.

दिल्ली बजट के कुछ अहम बिंदु निम्न हैं –

दिल्ली का बजट 36776 करोड़ रुपए का.
बजट में कोई नया कर नहीं लगाया गया.
260 करोड़ रुपए की बिजली की सब्सिडी.
20 नए सरकारी स्कूल बनेंगे.
हर विधानसभा में लड़कियों का स्कूल होगा.
कामकाजी महिलाएं के 6 नए हॉस्टल.
50 नए डायलिसिस सेंटर बनेंगे.
दो नए वाटर ट्रीटमेंट प्लांट लगेंगे.
110 मोबाइल एंबुलेंस सेवा शुरू की जाएगी.
रोहिणी में मल्टी स्पेशयलिटी अस्पताल बनेगा.
परिवहन सेवा को बेहतर बनाने के लिए 1380 नई लो फ्लोर बसें खरीदी जाएंगी.
झुग्गी-झोपड़ी बस्तियों में सामुदायिक शौचालय खोले जाएंगे.
100 सीटों वाला एक नया मेडिकलकॉलेज रोहिणी में खोलने का प्रस्ताव.
स्वास्थ्य क्षेत्र के लिए 2724 करोड़.
वृद्धावस्था पेंशन के लाभार्थियों की संख्या 3.90 लाख से बढाकर 4.30 लाख करने का प्रस्ताव.
सामाजिक सुरक्षा और कल्याण क्षेत्र के लिए 1862 करोड़ रुपए का प्रस्ताव.