सदन में सांसदों का शपथ ग्रहण

RSTV Bureau

mp_oath16वीं संसद के विशेष सत्र के दूसरे दिन गुरुवार को नए सांसदों को सदस्यता की शपथ दिलाई गई. शपथ लोकसभा के प्रोटेम स्पीकर कमलनाथ ने दिलाई.

सबसे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हिंदी में शपथ ली. मोदी के बाद राष्ट्रीय लोकतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) के अध्यक्ष लालकृष्ण आडवाणी ने शपथ ग्रहण की. आडवाणी के बाद कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने हिंदी में शपथ ली.

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने संस्कृत में शपथ ली. सुषमा के अलावा कैबिनेट मंत्री और झांसी से सांसद उमा भारती और स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने भी संस्कृत में शपथ ली. भोजपुरी गायक और उत्तर-पूर्वी दिल्ली से सांसद मनोज तिवारी ने शपथ पत्र पढ़े बिना ही शपथ ग्रहण की. वो शपथ को कंठस्थ करके आए थे.

नवनिर्वाचित सांसदों ने मैथली, बांग्ला, हिन्दी, अंग्रेजी, गुजराती समेत विभिन्न भारतीय भाषाओं में शपथ ग्रहण किया. शुक्रवार को भी बाकी रहे सांसदों को शपथ दिलाई जाएगी.

उत्सव का माहौल

शपथ ग्रहण से पहले देश के अलग-अलग हिस्सों से चुनकर आए सांसद अपनी पारंपरिक वेशभूषा में संसद भवन पहुंचे. 543 सांसदों में 315 सांसद ऐसे हैं जो पहली बार जीतकर आए हैं. पहली बार संसद पहुंचने वाले सांसद काफी उत्साहित नज़र आए जबकि कुछ सांसद आज के दिन भी अनुपस्थित रहे.

लोकसभा के स्पीकर का चुनाव भी शुक्रवार को होना है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत अलग-अलग दलों के 19 सांसदों ने सुमित्रा महाजन के नाम का प्रस्ताव रखा है.

अभी तक 16वीं लोकसभा में स्पीकर के लिए केवल सुमित्रा महाजन के नाम का प्रस्ताव ही सामने आया है. ऐसे में सुमित्रा महाजन का स्पीकर बनना तय है. महाजन लगातार आठवीं बार इंदौर से जीतकर लोकसभा पहुंचीं हैं. 15वीं लोकसभा की स्पीकर मीरा कुमार के बाद सुमित्रा महाजन लोकसभा की दूसरी महिला स्पीकर होंगी.

स्पीकर के चुनाव के बाद 9 जून को राष्ट्रपति संसद के संयुक्त सत्र को संबोधित कर सकते हैं. उसके बाद 10 और 11 जून को राष्ट्रपति के अभिभाषण पर चर्चा संभव है. प्रधानमंत्री के धन्यवाद ज्ञापन के बाद इस विशेष सत्र का समापन होगा.