संघर्षविराम उल्लंघन पर प्रधानमंत्री बोले, सबकुछ ठीक होगा

RSTV Bureau

fjfjdlkj

भारत-पाकिस्तान सीमा पर पिछले कुछ दिनों से लगातार जारी संघर्ष विराम उल्लंघन पर चुप्पी तोड़ते हुए पीएम ने कहा कि जल्द ही सबकुछ ठीक हो जायेगा. हालांकि प्रधानमंत्री इस बारे में सार्वजनिक रूप से अधिक कुछ कहने से बचे और सधे हुए तरीके से अपना संकेत दिया.

पाकिस्तान की ओर से सीमा पर संघर्ष विराम का उल्लंघन लगातार जारी है. इस दौरान भारतीय सीमा के अंदर कम से कम आठ लोगों की जानें जा चुकी हैं और 70 से ज़्यादा लोग घायल हुए हैं.

पाकिस्तान की ओर से लगातार हो रही गोलीबारी के मुद्दे पर विपक्षी दलों और एनडीए की हाल के दिनों तक सहयोगी रही शिवसेना ने केंद्र सरकार और प्रधानमंत्री को घेरा.

किसी ने कहा कि इस राष्ट्रीय संकट के समय प्रधानमंत्री राज्यों के चुनाव में प्रचार करने में व्यस्त हैं तो किसी ने कहा कि केंद्र सरकार की कथनी और करनी में फर्क है.

विपक्ष की ओर से लगातार तीखे बयानों के बीच बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पहली बार इस मामले पर बयान दिया.

बताया जा रहा है कि सीमा पर स्थिति से निपटने के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल को अहम जिम्मेदारी सौंपी गई है. इससे पहले सेना प्रमुख दलबीर सिंह सुहाग ने कहा था कि भारतीय सेना पाकिस्तान को माकूल जवाब दे रही है.

देश बनाम राज्य

प्रधानमंत्री के इस बयान को काफी अहम माना जा रहा है. गौरतलब है कि पीएम महाराष्ट्र और हरियाणा में होने वाले विधानसभा चुनाव के चलते दोनों राज्यों में ताबड़तोड़ रैलियां कर रहे हैं लेकिन इस मुद्दे पर प्रधानमंत्री की ओर से अब तक कोई बयान नहीं आया था.

विधानसभा चुनाव तक भाजपा की सहयोगी रही शिवसेना ने कहा था कि प्रधानमंत्री को महाराष्ट्र नहीं बल्कि पड़ोसी देश पाकिस्तान की क्रूरता पर ध्यान देना चाहिए.

शिवसेना ने अपने मुखपत्र ‘सामना’ में कहा कि देश की रक्षा करने के लिए सिर्फ छप्पन इंच के सीने की ही जरूरत नहीं होती बल्कि दृढ़ संकल्प के साथ एक मजबूत इच्छा शक्ति का होना भी अनिवार्य है.

वहीं बुधवार को कांग्रेस प्रवक्ता शकील अहमद ने प्रधानमंत्री मोदी पर तंज कसते हुए कहा कि सीमा पार से लगातार हो रही गोलीबारी से ये साबित हो गया कि प्रधानमंत्री का सीना 56 इंच से घटकर मात्र 5.6 इंच का रह गया है. इसी तर्ज पर समाजवादी पार्टी के मुखिया मुलायाम सिंह यादव ने भी प्रधानमंत्री मोदी को घेरा.