सरकार ‘वन रैंक-वन पेंशन’ के लिए प्रतिबद्ध: पीएम मोदी

Vimal Chauhan
narendra_modi

File Photo ( PTI )

बनने के एक साल बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को देश से अपने मन की बात की. उन्होंने आकाशवाणी के कार्यक्रम ‘मन की बात’ में अपनी सरकार के एक साल के काम काज का ब्योरा, छात्रों,  नौजवानों,  किसानों, योग प्रेमियों से जुड़ी बातें की और वन रैंक वन पेंशन लागू करने को लेकर अपनी सरकार की प्रतिबद्धता जताई.

पीएम मोदी ने कार्यक्रम की शुरूआत में तपती गरमी में देशवासियों से अपना ध्यान रखने की अपील की. उन्होंने कहा कि पिछली बार जब मैंने आपसे मन की बात की थी, तब भूकंप की भयंकर घटना ने मुझे बहुत विचलित कर दिया था. आज जब मैं मन की बात कर रहा हूँ, तो चारों तरफ भयंकर गर्म हवा, गर्मी, परेशानियां उसकी ख़बरें आ रही हैं. उन्होंने सबसे गर्मी के दिनों में पशु-पक्षियों का भी ख्याल रखने पर जोर दिया.

वन रैंक वन पेंशन लागू करने को लेकर अपनी सरकार की प्रतिबद्धता जताते हुए पीएम ने कहा कि वन-रैंक, वन-पेंशन, क्या ये सच्चाई नहीं हैं कि चालीस साल से सवाल उलझा हुआ है? क्या ये सच्चाई नहीं हैं कि इसके पूर्व की सभी सरकारों ने इसकी बातें की, किया कुछ नहीं?. मैंने निवृत्त सेना के जवानों के बीच में वादा किया है कि मेरी सरकार वन-रैंक, वन-पेंशन लागू करेगी.

बोर्ड एग्जाम में उत्तीर्ण होने वाले छात्रों को बधाई देते हुए पीएम ने कहा कि सी.बी.एस.ई. और अलग-अलग बोर्ड एग्जाम पास करने वाले विद्यार्थी मित्रों को अपने नतीजे मिल गये हैं, मैं उन सब को बधाई देता हूं. उन्होंने छात्रों को अपने मनपसंद कैरियर चुनने की सलाह देते हुए कहा कि जो भी चुनें अपनी कौशल के मुताबिक चुने. देश को आगे बढ़ाने वाला करियर चुनें. सफलता विफलता को स्वाभाविक बताते हुए पीएम ने छात्रों को विफलता से नया रास्ता निकालने की सलाह दी.

 

प्रधानमंत्री ने सरकार के एक साल का समय पूरा होने पर भी चर्चा की. उन्होंने कहा कि सरकार के एक साल पूरे होने पर देश ने उसका बारीकी से विश्लेषण किया, आलोचना की और बहुत सारे लोगों ने हमें डिस्टिंक्शन मार्क्स भी दे दिए. वैसे भी लोकतंत्र में ये मंथन बहुत जरूरी होता है, पक्ष-विपक्ष आवश्यक होता है क्या कमियां रहीं, उसको भी जानना बहुत ज़रूरी होता है.

सरकार की योजनाओं के बारे में जानकारी देते हुए पीएम ने कहा कि सरकार ने सामाजिक सुरक्षा की तीन योजनाएं प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना, प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना को लॉन्च किया. केवल 20 दिनों में 8 करोड़ 52 लाख लोगों ने इन योजनाओं में अपना पंजीकरण कराया.

 

दूरदर्शन के नये चैनल किसान चैनल को खेत खलियान वाली ओपन यूनिवर्सिटी बताते हुए पीएम ने कहा इस चैनल का विद्यार्थी भी किसान है, और शिक्षक भी किसान है.

 

योग को महत्वपूर्ण बताते हुए पीएम ने कहा कि आने वाले 21 जून को पूरी दुनिया अंतराष्ट्रीय योग दिवस मनायेगी. हमारे 21 जून को विश्व योग दिवस मनाने के प्रस्ताव को संयुक्त राष्ट्र में 100 दिन के भीतर 177 देशों का समर्थन मिला. अब इसे सफल बनाने की हमारी जिम्मेदारी बढ़ गई है और हमें इसकी तैयारी में लग जाना चाहिए.

 

पीएम ने कहा कि योग ने दुनियों को जोड़ने का काम किया है. योग रोग और भोग मुक्ति का माध्यम है. हम दुनिया में योग के एंबेसडर बनेंगे. देश के हर नागरिक को 21 जून को तनाव से मुक्त होने और शरीर को निरोग बनाने के लिए सामूहिक योग करना चाहिए.