हम नेपाल के आंसू पोंछेंंगे, हर संभव मदद करेंगे: पीएम

Vimal Chauhan
File Photo ( PTI )

File Photo ( PTI )

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को ‘मन की बात’ कार्यक्रम में शनिवार को आए भूकंप से प्रभावित नेपाल की हर संभव मदद की बात कही. मन की बात में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, मन की बात करने का मन नहीं हो रहा था आज. बोझ अनुभव कर रहा हूँ, कुछ व्यथित सा मन है.

नेपाल के दुख अपना दुख बताते हुए अपना पीएम कहा कि सवा-सौ करोड़ देश वासियों के लिए नेपाल अपना है. नेपाल के लोगों का दुःख भी हमारा दुःख है. भारत इस आपदा के समय हम हर नेपाली के आंसू भी पोंछेंगा, उनका हाथ भी पकड़ेगा और उनका साथ भी देंगा.

पीएम ने गुजरात के कच्छ में आए भूकंप को याद करते हुए कहा, ” मैंने 2001 कच्छ के भूकंप को देखा है. मैं नेपाल का दर्द समझ सकता हूं. नेपाल की सहायता के लिए राहत और बचाव दल भेजा. मलबे से जिंदा लोगों को निकालने के लिए स्निफर डॉग भेजे हैं.” इस दौरान उन्होंने यमन में भारत द्वारा किए गए राहत अभियान का भी उल्लेख किया है. उन्होंने कहा, ” हमने 48 देशों के लोगों को बचाया है और हमारे इस कार्य की दुनिया भर के देशों ने बधाई के पात्र माना.”

भारत को शांति प्रिय देश बताते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि भारत दुनिया में अमन-शांति के लिए हर संभव कदम उठा रहा है. उन्होंने कहा, ” यह देश दुनिया की शांति, सुख और कल्याण के लिए सोचता है. हमेशा कुछ न कुछ करता है. जरूरत पड़े तो जान की बाजी भी लगा देता है. संयुक्त राष्ट्र के लिए पीस कीपिंग फोर्स में भी सबसे ज्यादा भारतीय सैनिक हैं. ”

बाबा साहेब अम्बेडकर की 125 वीं जयंती पर मुंबई में उनका स्मारक बनाने के बारे में बताते हुए पीएम ने कहा कि कई वर्षों से मुंबई में उनके स्मारक बनाने का जमीन का विवाद चल रहा था. लेकिन भारत सरकार ने विवाद खत्म करते हुए वो जमीन बाबा साहेब अम्बेडकर के स्मारक बनाने के लिए दे दी. साथ ही साथ दिल्ली में बाबा साहेब अम्बेडकर के नाम से बने एक इंटरनेशनल सेंटर का शिलान्यास किया.

बेटियों के देश का गौरव बताते हुए पीएम ने साईना नेहवाल को बैडमिंटन में दुनिया में नंबर खिलाड़ी बनने , और सानिया मिर्जा को टेनिस डबल्स में दुनिया में नंबर एक खिलाड़ी बनने पर बधाई दी.