100 दिन के काम-काज को जनता ने नकारा: टीएमसी

RSTV Bureau

mamtaदस राज्यों के तीन लोकसभा और 32 विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव के नतीजे आ गए हैं. उपचुनाव के नतीजों से भाजपा को निराशा हाथ लगी है. चुनाव नतीजों पर निराशा व्यक्त करते हुए भाजपा नेता शाहनवाज़ हुसैन ने कहा कि हमें इस प्रकार के नतीजों की उम्मीद नहीं थी और लोगों ने स्थानीय मुद्दों पर वोट दिया. हालांकि उन्होंने पश्चिम बंगाल में सीट जीतने पर खुशी जताई. उन्होंने कहा कि इन चुनावों में  हम पहली बार पश्चिम बंगाल में खाता खोलने में कामयाब रहे.

भले ही भाजपा पश्चिम बंगाल में खाता खोलने में कामयाब रही हो लेकिन तृणमूल कांग्रेस के अनुसार  मोदी मैजिक पिछले 100 दिनों में फीका पड़ गया है.

तृणमूल कांग्रेस के महासचिव मुकुल रॉय ने कहा कि मोदी सरकार ने पिछले 100 दिनों के काम-काज के जरिए लोगों का विश्वास खो दिया है. वहीं दूसरी ओर सीपीआई महासचिव डी. राजा के अनुसार लोगों ने बीजेपी के ध्रुवीकरण की कोशिश को नाकाम कर दिया.

उत्तर प्रदेश की सत्ता पर काबिज समाजवादी पार्टी ने कहा कि प्रदेश की जनता ने संप्रादायिक ताकतों को बाहर का रास्ता दिखा दिया है.

प्रदेश की जनता का धन्यवाद व्यक्त करते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा, “राज्य की जनता ने सांप्रदायिक ताकतों को एक करारा जवाब दिया है और उन्हें बता दिया है कि जनता सद्भाव और भाईचारा चाहती है.”

भाजपा पर सांप्रदायिकता का आरोप लगाते हुए अखिलेश ने कहा कि सांप्रदायिक ताकतों ने नफरत फैला कर लाभ हासिल करने की कोशिश की लेकिन जनता ने वोट के जरिये उन्हें हरा दिया. वहीं बीजेपी ने सपा पर सत्ता का दुरुपयोग करने का आरोप लगाया.

गोरक्षपीठाधीश्वर और गोरखपुर से लोकसभा सांसद महंत आदित्यनाथ ने बीजेपी को मिली हार पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा, “मैं नोएडा और लखनऊ गया था, जहां हमें जीत मिली. कई जगहों पर मेरी सभाएं नहीं होने दी गई थीं. उत्तर प्रदेश सरकार ने अपनी सत्ता का गलत इस्तेमाल किया. कई सीटों पर पैसे बांटे गए.”

वहीं दूसरी ओर हार की नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए भाजपा प्रदेशाध्यक्ष लक्ष्मीकांत वाजपेयी ने कहा कि इस हार की जिम्मेदारी “मेरी और मेरी टीम की बनती है. इन नतीजों से हमें विधानसभा चुनावों के लिए सीख लेनी चाहिए”.

उत्तर प्रदेश के अलावा भाजपा को राजस्थान में भी भारी नुकसान उठाना पड़ा. विधानसभा चुनावों में कांग्रेस की जीत पर उत्साहित पूर्व केंद्रीय मंत्री और राजस्थान कांग्रेस के अध्यक्ष सचिन पायलट ने कहा कि लोगों ने भाजपा को सत्ता के क्रूर “दुरूपयोग” की वजह से नकार दिया है.

उन्होंने दावा किया कि भाजपा के मंत्री, सांसद और विधायक अपने प्रत्याशियों की जीत सुनिश्चित करने के लिए विधानसभाओं में डेरा डाले हुए थे. वे सभी सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग और चुनाव के दिशा निर्देशों का उल्लंघन कर रहे थे लेकिन जनता ने उन्हें सबक सिखा दिया.

बीजेपी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के गृह राज्य गुजरात में भी 10 में से 4 सीटों पर हार का सामना करना पड़ा. चुनाव नतीजों को बीजेपी के लिए ऑख खोलने वाला बताते हुए वरिष्ठ कांग्रेस नेता शंकर सिंह वाघेला ने कहा कि लोगों ने बीजेपी के खिलाफ वोट किया है और इन नतीजों से बीजेपी को अपनी ऑखें खोल लेनी चाहिए.