2 स्वर्ण समेत 8 पदक भारत के खाते में

Anugrah Mishra
cwg_india

Gold medal winner India’s Sukhen Dey celebrates after the men’s 56 kg weightlifting event at the Commonwealth Games

ग्लासगो में ज़ारी 20वें राष्ट्रमंडल खेलों में भारत ने शानदार आगाज़ करते हुए 8 पदक अपने नाम कर लिए हैं. गुरुवार को खेलों की शुरूआत के पहले दिन ही महिला भारोत्तलन में संजीता चानू ने देश को पहला स्वर्ण पदक दिलाया. भारत के खाते में अब तक 2 स्वर्ण, 4 रजत और 2 कांस्य पदक आए हैं.

मणिपुर की रहने वाली 20 वर्षीय संजीता ने 48 किलोग्राम वर्ग में सोने पर मुहर लगाई. इसी वर्ग में मणिपुर की ही मीराबाई चानू ने रजत पदक जीता. संजीता ने 173 किलो जबकि मीराबाई ने 170 किलोग्राम भार उठाया.

ग्लासगो राष्ट्रमंडल में देश के लिए दूसरा स्वर्ण पदक भी भारोत्तलन में ही आया. भारोत्तलन की पुरुष स्पर्धा में सुखेन डे 56 किलोग्राम वर्ग में सोना जीता. सुखेन ने 248 किलोग्राम भार उठाकर मलेशिया के जुल्हेमी पिसोल को शिकस्त दी. जबकि इसी वर्ग में 244 किलो भार उठाने वाले भारत के गणेश माली को कांस्य पदक हासिल हुआ.

जूडो में भी भारत ने तीन पदक अपने नाम किए. जूडो की पुरुष स्पर्धा में नवजोत चाना को 60 किलोग्राम वर्ग में रजत पदक मिला. महिलाओं के 48 किलोग्राम वर्ग में सुशीला लिकाबाम ने रजत पदक जीता. साथ में कल्पना थोडम को जूडो में ही कांस्य पदक जीतने में सफलता मिली.

शुक्रवार को 10 मीटर एयर पिस्टल के महिला वर्ग में भारत की मलाइका गोयल ने रजत पदक पर निशाना साधा. दुनिया की नंबर एक खिलाड़ी रह चुकी हिना सिंधु दिल्ली राष्ट्रमंडल खेलों की सफलता को दोहराने में नाकाम रही. 2010 में हिना ने टीम स्पर्धा में स्वर्ण जबकि व्यक्तिगत स्पर्धा में रजत पदक हासिल किया था.

हॉकी, टेबल टेनिस, बैडमिंटन, स्क्वैश में भी भारत को अच्छी शुरूआत मिली है. आगे इन खेलों में भी पदक जीतने की उम्मीदें बरक़रार हैं.

भारत 2 स्वर्ण समेत सात पदकों के साथ अंकतालिका में चौथे स्थान पर काबिज है. अंकतालिका में 6 स्वर्ण के समेत 17 पदक हासिल कर इंग्लैंड शीर्ष पर है. ऑस्टेलिया 15 पदकों के साथ दूसरे,  जबकि मेज़बान स्कॉटलैंड 10 पदक जीतकर तीसरे स्थान पर है.

ग्लासगो से पदकों की दौड़ बीच भारत के लिए कुछ बुरी ख़बरें भी आयीं. एकल स्पर्धा में देश को पहला ओलंपिक स्वर्ण पदक दिलाने वाले निशानेबाज अभिनव बिंद्रा ने ऐलान किया कि ये उनका आखिरी राष्ट्रमंडल खेल है. अब तक पांच राष्ट्रमंडल खेलों में हिस्सा ले चुके अभिनव बिंद्रा शुक्रवार को आखिरी बार राष्ट्रमंडल खेलों में पदक के लिए निशाना लगाएंगे.

पैरा एथलीट सचिन चौधरी के डोपिंग में पकड़े जाने से देश को शर्मसार होना पड़ा. भारोत्तलन के खिलाड़ी सचिन को प्रतिबंधिक पदार्थ के सेवन का संदिग्ध पाया गया, जिसके चलने उन्हें राष्ट्रमंडल खेलों से बाहर कर दिया गया है.