भारत और चीन के बीच कई अहम समझौते

RSTV Bureau

modi-xi2भारत और चीन के बीच दिल्ली में हुई शिखर वार्ता में दोनों देशों के बीच 12 अहम समझौतों पर हस्ताक्षर किए गए. दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग की मौजूदगी में ये महत्वपूर्ण करार हुए.

दोनों देशों ने व्यापार, रेलवे, सीमा-शुल्क और तकनीक के क्षेत्र में आपसी सहयोग पर सहमति जताई. समझौते पर हस्ताक्षर के बाद दोनों नेताओं ने दिल्ली के हैदराबाद हाउस में संयुक्त प्रेस वार्ता को भी संबोधित किया.

इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि बीते दो दिनों में दोनों देशों के बीच आर्थिक, राजनीतिक और सुरक्षा जैसे अहम मसलों पर बातचीत हुई. प्रधानमंत्री ने कहा दोनों देश के बीच संबंधों को मजबूती देने के लिए सीमा पर शांति और आपसी विश्वास काफी अहम है.

चीन के साथ सबंधों को महत्वपूर्ण और प्राथमिक बताते हुए पीएम ने कहा कि भारत की विदेश नीति में पड़ोस का सबसे अहम स्थान है. हम दोनों देश विकासशील देश हैं और मिलकर विश्व अर्थव्यवस्था को ऊर्जा दिखा सकते हैं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चीन की ओर से मानसरोवर यात्रा के लिए नाथूला के रास्ते एक नया मार्ग निकालने की योजना पर खुशी जताते हुए कहा कि नया रास्ता खुलने से वृद्ध तीर्थयात्रियों को मानसरोवर यात्रा करने में सुगमता होगी.

मुबंई को शंघाई की तर्ज पर विकसित करने पर भी दोनों देशों की बीच समझौता हुआ. चीन अगले 5 साल में भारत में 20 बिलियन डॉलर का निवेश करेगा. प्रधानमंत्री ने चीनी राष्ट्रपति से चीन में भारतीय कंपनियों के निवेश के प्रक्रिया को सरल बनाने पर जोर दिया.

चीन के राष्ट्रपति ने दोनों देशों के बीच व्यापार को अहम बताते हुए कहा कि भारत-चीन-म्यांमार और बांग्लादेश को आर्थिक कॉरीडोर से जोड़ा जाएगा. दोनों देशों के बीच सांस्कृतिक सहयोग पर सहमति बनी है जिसके तहत चीन दिल्ली पुस्तक मेला और गोवा फिल्म महोत्सव में शिरकत करेगा.

वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC )की स्पष्टता को महत्वपूर्ण बताते हुए पीएम ने कहा कि हमें सीमा विवाद को जल्द से जल्द सुलझाना होगा. सीमा पर शांति, स्थिरता के लिए LAC के मुद्दे पर फिर से बात शुरु करने की जरूरत है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बातों पर सहमति जताते हुए चीन के राष्ट्रपति ने कहा कि सीमा विवाद इतिहास का विषय है. चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने कहा कि सीमा विवाद का असर दोनों मुल्कों के संबंधों पर नहीं पड़ेगा. हम विवादित मुद्दों को मिलकर जल्द से जल्द सुलझाएंगें.

भारत के विकास की प्रशंसा करते हुए चीनी राष्ट्रपति ने कहा कि हमें उम्मीद है भारत नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में विकास के नए आयामों को छूएगा.

चीन के राष्ट्रपति ने प्रधानमंत्री मोदी के साथ हुई बातचीत को सार्थक बताते हुए कहा कि हमनें कई अहम घरेलू और अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर खुलकर बातचीत की है. चीनी राष्ट्रपति ने कहा कि अगर भारत और चीन मिलकर एक सुर में बोलेंगे तो पूरा दुनिया उसे सुनेगी.

शी जिनपिंग ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चीन आने का न्यौता भी दिया है.