महिला क्रिकेटः भारत ने इंग्लैंड को 6 विकेट से हराया

Anugrah Mishra

cricket_genericविश्वस्तरीय मानी जाने वाली भारतीय पुरुष क्रिकेट टीम जो काम न कर सकी उसे भारत की बेटियों ने बखूबी अंजाम दिया.

एक ओर ओवल में धोनी के धुरंधर इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट मैच बचाने के लिए संघर्ष कर हैं वहीं दूसरी तरफ कमतर आंकी जाने वाली भारतीय महिला क्रिकेट टीम इंग्लैंड को ही चार दिवसीय टेस्ट मैच में 6 विकेट से करारी शिकस्त दी है.

इस जीत से भारत ने इंग्लैंड में कोई भी मैच न हारने का रिकॉर्ड भी कायम रखा है.

आठ साल बाद कोई टेस्ट मैच खेलने उतरी भारटीय महिला क्रिकेट टीम ने कप्तान मिताली राज की अगुवाई में ये शानदार जीत दर्ज की.

मिताली ने खुद आगे आकर 50 रनों की नाबाद पारी खेली और भारत को मैच के साथ-साथ श्रंखला में जीत दिलाई. इस श्रंखला में एक ही मैच खेला जाना था.

भारत के सामने मैच में 181 रनों का चुनौतीपूर्ण स्कोर था लेकिन पांचवे विकेट के लिए मिताली और शिखा पांडे की जोड़ी ने 68 रन जोड़कर मैच को अपनी झोली में डाल लिया. शिखा ने 28 रनों की नाबाद पारी खेली.

भारतीय टीम आठ साल बाद कोई टेस्ट मैच खेल रही थी. भारतीय खेमे में आठ खिलाड़ी तो ऐसी थीं जो पहली बार सफेद जर्सी पहनकर मैदान में उतरीं.

इंग्लैंड ने अपनी पहली पारी में 92 रन बनाए थे जिसके जबाब में भारतीय टीम 114 रनों पर ही सिमट गई. दूसरी पारी में इंग्लैंड 202 रन बनाने में कामयाब रहा. भारत के सामने 181 रनों लक्ष्य था, जिसे भारत ने चार विकेट गंवाकर आसानी से हासिल कर लिया.

हाल ही में ग्लासगो में आयोजित राष्ट्रमंडल खेलों में भारत की बेटियों के प्रदर्शन की काफी सराहना हुई है. राष्ट्रमंडल खेलों के वजनदार प्रदर्शन के बाद देश की बेटियां क्रिकेट के मैदान पर जीत का चौका लगाने में सफल रही.

ऐसे में उम्मीद की जा सकती है कि धोनी ब्रिगेड भी महिला क्रिकेट टीम से कुछ सीख लेगी और आने वाले वक्त में बेहतर प्रदर्शन कर देश का झंडा बुलंद करेंगे.

गौरतलब है कि इंग्लैंड के खिलाफ पांच टेस्ट मैचों की श्रंखला भारत 1-2 से पीछे चल रहा. ओवल में जारी अंतिम टेस्ट मैच में भारतीय टीम के सामने मैच बचाने की चुनौती है. श्रंखला का पहला टेस्ट ड्रा हो गया था.