संभावनाओं की तलाश में नहीं छोड़ना होगा घरः पीएम

RSTV Bureau

nri_summitxlभारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि नई संभावनाओं के लिए भारतीयों को अपना देश नहीं छोड़ना होगा क्योंकि बदलते समय के साथ भारत में अब अपार संभावनाएं जन्म ले रही हैं.

प्रधानमंत्री गुजरात के गांधीनगर में गुरुवार को 13वें प्रवासी भारतीय सम्मेलन के औपचारिक उदघाटन के बाद प्रवासी भारतीयों को संबोधित कर रहे थे. उन्होंने कहा कि भारत अब स्वयं अपने लोगों के लिए संभावनाएं और अवसर उपलब्ध कराने में सक्षम है और अवसरों के लिए विदेशों की ओर देखने की ज़रूरत अब भारतीयों के लिए नहीं रहेगी.

पीएम ने कहा कि बीते कुछ महीनों में सरकार ने प्रवासी भारतीयों के लिए अनेक कदम उठाए हैं जिसमें अध्यादेश के जरिए ओपीआई और आसीआई को एक किया गया और वीज़ा ऑन अराइवल जैसी सुविधायें भी दी गई हैं.

अपने संबोधन में उन्होंने इस बात कर भी ज़ोर दिया कि मिलने के पीछे का मकसद किसी लाभ या आर्थिक वजह समझा जाए, यह उचित नहीं होगा. उससे भी बड़ी बात मूल्यों के साथ आगे बढ़ना और अपनों से मिलना है. किसी भी स्वस्थ विकास के लिए यह ज़रूरी है कि हम मिलें और संवाद बने.

भारत के वैश्विक प्रचारकों के रूप में प्रवासी भारतीयों को देखते हुए उन्होंने कहा कि दुनिया में जहां भी भारतीय हैं, वो इस देश का और यहां के मूल्यों का प्रतिनिधित्व करते हैं. आज भारत की एक पहचान है और इसमें प्रवासी भारतीयों की महती भूमिका है. पीएम ने कहा कि विश्व की हर संभावनाओं में भारतीयों ने अपनी जगह बनाई है.

याद आए गांधी

पीएम ने इस मौके पर महात्मा गांधी को भी याद किया.

उन्होंने कहा कि महात्मा गांधी के विचारों से आज भी विश्व को प्रेरणा मिलती है. गांधी जी के विचारों को मानवता के लिए विशेष धरोहर बताते हुए पीएम ने कहा कि आज भी गांधी जी के विचार विश्व, मानवतावाद की समस्याओं और लोगों की दर्द से मुक्ति दिलाते हैं. विदेशों में भी गांधी की प्रतिमाएं लगी हैं.

प्रधानमंत्री मोदी ने प्रवासी भारतीयों को नमामि गंगे अभियान के बारे में बताते हुए स्वच्छता अभियान और मां गंगा की सफाई में प्रवासी भारतीयों से सहयोग मांगा और कहा कि अब गंगा के किनारों पर विकास होना चाहिए.

प्रवासी भारतीय दिवस पर प्रधानमंत्री मोदी ने महात्मा गांधी को याद करते हुए 10 और सौ रूपए का सिक्का भी जारी किया. इस सिक्के के एक तरफ महात्मा गांधी की जवानी की तस्वीर है और दूसरी तरफ वृद्ध राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की.

अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के विषय पर बोलते हुए पीएम ने कहा कि मैंने संयुक्त राष्ट्र में योग दिवस मनाने का प्रस्ताव रखा जिसे 177 देशों का समर्थन प्राप्त हुआ जिसमें 40 मुस्लिम देश शामिल थे.

इस बार का प्रवासी भारतीय सम्मेलन महात्मा गांधी के दक्षिण अफ्रीका से लौटने के ठीक सौ साल बाद आयोजित हो रहा है. इस सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए दुनियाभर के करीब 200 देशों से प्रवासी भारतीय यहां पहुंचे हैं.