पठानकोट हमला; पाकिस्तान ने निर्णायक कार्रवाई का दिया भरोसा

RSTV Bureau
Photo – PTI

Photo – PTI

पठानकोट वायु सेना अड्डे पर हमले में शामिल आतंकियों के खिलाफ पाकिस्तान ने जल्दी और निर्णायक कार्रवाई का भरोसा दिया है. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को मंगलवार दोपहर कोलम्बो से फोन कर ये बात कही. प्रधानमंत्री कार्यालय के मुताबिक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जोर देकर कहा कि पाकिस्तान को इस हमले के लिए जिम्मेदार लोगों और संगठनों के खिलाफ ठोस और तत्काल कार्रवाई करने की जरूरत है. नरेंद्र मोदी ने नवाज शरीफ को बताया कि इस बारे में विशिष्ट और कार्रवाई करने लायक सूचना मुहैया कराई गई है.

इस बीच पठानकोट में वायु सेना अड्डे का दौरा करने के बाद रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने कहा कि हमले में शामिल आतंकियों के पास पाकिस्तान में बने हथियार और साजो-सामान बरामद हुए हैं. रक्षा मंत्री ने मीडिया से बातचीत में बताया कि छह आतंकी मारे गए हैं और वायु सेना अड्डे के अंदर अब किसी आतंकी के छिपे होने की आशंका नहीं है.

pathankot-mapमनोहर पर्रिकर ने वायु सेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल अरूप राहा और थल सेना प्रमुख जनरल दलबीर सिंह सुहाग के साथ वायु सेना अड्डे का दौरा किया. उन्होंने बताया कि सुरक्षाबलों की आतंकियों के साथ मुठभेड़ शनिवार तड़के साढे तीन बजे शुरू हुई थी जो रविवार देर शाम साढ़े सात बजे तक चली. रक्षा मंत्री ने कहा कि इसके बाद से इलाके में तलाशी अभियान चल रहा है जो बुधवार को भी जारी रहेगा. मनोहर पर्रिकर ने बताया कि एनआईए इस मामले की जांच कर रही है और उनकी ओर से ज्यादा जानकारी देना उचित नहीं होगा. एनआईए ने इस पूरे मामले की जांच के लिए तीन केस दर्ज किए हैं।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सोमवार को दिल्ली में राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद की बैठक की अध्यक्षता की थी. इसमें पठानकोट वायु सेना अड्डे और अफगानिस्तान में मजार-ए-शरीफ स्थित भारतीय वाणिज्य दूतावास पर हमले को लेकर चर्चा हुई थी. राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद की बैठक के बाद वित्त मंत्री अरुण जेटली ने मीडिया से बातचीत की थी. 15 जनवरी को इस्लामाबाद में होनी वाली विदेश सचिव स्तर की वार्ता के सवाल पर अरुण जेटली ने कहा कि अभियान खत्म होने पर हम इस बारे में फैसला करेंगे.

Photo – PTI

Photo – PTI

शनिवार तड़के साढ़े तीन बजे सेना की वर्दी पहने छह आतंकी जंगल से सटी वायु सेना अड्डे की पिछली दीवार फांदकर घुसे और उन्होंने गोलियां बरसानी शुरू कर दी थी. भारी मात्रा में आरडीएक्स लिए आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच शुरुआती मुठभेड़ में चार आतंकी मारे गए थे. इस पूरे अभियान में एनएसजी के लेफ्टिनेंट कर्नल निरंजन कुमार समेत कुल सात सुरक्षाकर्मी शहीद हुए.

भारत-पाकिस्तान सीमा से करीब 35 किलोमीटर दूर पठानकोट वायु सेना स्टेशन मिग-21 लड़ाकू विमानों और एमआई-25 लड़ाकू हेलीकॉप्टरों का ठिकाना है. हमले में वायु सेना के किसी विमान को नुकसान नहीं पहुंचा है. सुरक्षाबलों ने आतंकियों को एयरबेस के घरेलू क्षेत्र में ही रोक दिया था जिससे वो तकनीकी क्षेत्र तक नहीं पहुंच सके. तकनीकी क्षेत्र वायु सेना अड्डे का सबसे संवदेनशील इलाका होता है.