हाइप करने से सरकार काम करने के लिए मजबूर होती हैः पीएम

RSTV Bureau

rrप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को अवसरों की भूमि बताते हुए कहा कि डेमोक्रेसी, डेमोग्राफी, डिमांड के कारण लोग भारत में निवेश करना चाहते हैं.

प्रधानमंत्री ने गांधीनगर के महात्मा मंदिर में रविवार को सातवें वाईब्रेंट गुजरात सम्मेलन में देश-विदेश से आए राजनेताओं और उद्योगपतियों को संबोधित किया. उन्होंने कहा कि भारत को ग्लोबल मैनुफ्युक्चरिंग हब बनाने के लिए सरकार कड़ी मेहनत कर रही है और हमारा ध्यान उन सैक्टरों पर जोर देने पर है जहां मजदूरों की संख्या अधिक है.

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि मुझ पर आरोप लगता रहा है कि मैं चीजों को ‘हाइप’ करता हूं. इस पर उन्होंने कहा कि हाइप करने से सरकार काम करने के लिए मजबूर होती है.

पीएम ने आर्थिक मंदी पर चिंता जताते हुए कहा कि इस वक्त मंदी को लेकर पूरी दुनिया में चिंता है. हालांकि भारत के विकास पर प्रधानमंत्री ने संतोष जताते हुए कहा कि आईएमएफ  ने हमें तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था माना और हम उम्मीद से ज्यादा गति से बढ़ रहे हैं.

विरोधियों के सवालों पर पलटवार करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, “मैं और मेरी सरकार अर्थव्यवस्था, सामाजिक व्यवस्था और जिंदगी बदलने के लिए काम कर रहे हैं”. उन्होंने कहा कि हम सिर्फ घोषणाएं नहीं कर रहे हैं बल्कि उनपर काम भी कर रहे हैं. भारत बदलाव के दौर से गुजर रहा है, हम देश में सहभागिता के साथ आगे बढ़ना चाहते हैं.

पूरी दुनिया को एक परिवार के समान बताते हुए पीएम ने सबके विकास की  बात कही. प्रधानमंत्री मोदी ने सौ से अधिक देशों से आए प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि आज हम सब इस छत के नीचे परिवार के तरह बैठे हैं और सभी एक बेहतर जिंदगी चाहते हैं.

लोकसभा चुनावों को देश के लिए टर्निंग पांइट बताते हुए पीएम ने कहा कि 30 साल बाद इन चुनावों में बहुमत की सरकार बनी.

आतंकवाद को दुनिया के लिए बड़ा खतरा बताते हुए पीएम ने कहा कि आंतकवाद दुनिया में पैर पसार रहा है.

पेरिस में हुए आतंकी हमले की निंदा करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने फ्रांस के लोगों के प्रति संवेदना प्रकट की और कहा कि हम सभी फ्रांस के लोगों के साथ खड़े हैं.