66वें गणतंत्र दिवस पर शक्ति और संस्कृति की झांकियां

RSTV Bureau

obama10देशभर में सोमवार को 66वां गणतंत्र दिवस धूमधाम से मनाया गया. आज ही के दिन 26 जनवरी 1950 को देश ने अपने मौजूदा संविधान को अपनाया था. तब से प्रति वर्ष आज के दिन को गणतंत्र दिवस के रूप में मनाया जाता है.

विजय चौक से ऐतिहासिक लालकिले तक दोनों ओर उत्साही जनता के विशाल हुजूम के बीच, प्राचीन काल से चली आ रही भारत की संस्कृति, विवधता और एकता की झांकियों और देश की सुरक्षा की गारंटी देने वाली फौज की क्षमता का आज देश के 66वें गणतंत्र दिवस के मौके पर भव्य प्रदर्शन हुआ. इस वर्ष का गणतंत्र दिवस समारोह महिला सशस्त्रीकरण पर केंद्रित था.

इस साल की परेड में पहली बार महिला अफसरों की नेतृत्व में तीनों सेनाओं की टुकड़ियों का प्रदर्शन, मेक इन इंडिया की झांकी आर्कषण का केंद्र रहा.

obama12

भव्य राष्ट्रपति भवन के समीप से रायसीना हिल्स की ओट से परेड की अगुवाई करने वाली सेना की पहली टुकड़ी की झलक पाते ही विजय चौक से राजपथ तक लोगों की करतल ध्वनियों से गूंज गया.

परंपरा के अनुसार राष्ट्रीय ध्वज फहराने के बाद राष्ट्रगान हुआ और परेड की विधिवत शुरूआत हुई.

परेड से पूर्व मुकुंद वर्धराजन और नायक नीरज कुमार को उनकी असाधरण वीरता के लिए मरणोपरांत अशोक चक्र प्रदान किया गया.

राष्ट्रपति ने इसके बाद परेड की सलामी ली. परेड में इस साल मुख्य अतिथि के तौर पर अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा मौजूद रहे थे.

बारिश के बावजूद लोगों के उत्साह में कोई कमी नहीं थी और सेनाओं के बैंड की ध्वनि के साथ जवानों की कदम ताल देखते ही बनती थी. विभिन्न राज्यों की झांकियों ने मन मोहा जिसमें राज्यों के अलावा विभिन्न मंत्रालयों और विभागों की परियोजनाओं जैसे- जनधन योजना, मां गंगा, स्वच्छ भारत मिशन आदि की झांकियां भी शामिल थी.

obama13

सीमा सुरक्षा बल के जवानों द्वारा मोटरसाइकिल पर करतब के प्रदर्शनों ने मुख्य अतिथि बराक ओबामा, मिशेल ओबामा सहित आम लोगों को हैरान कर दिया.

पहली बार भारत के लंबी दूरी का नौवहन निगरानी एवं पनडुब्बीरोधी पी 8 आई विमान और लम्बी दूरी के मिग 29 के लड़ाकू विमानों का भी गणतंत्र दिवस समारोह में प्रदर्शन किया गया. इन्हें पूर्ण रुप से  रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) ने तैयार किया है.

65 साल से चले आ रही परंपरा को तोड़ते हुए  गणतंत्र दिवस समारोह में भाग लेने वाले प्रथम अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा अपनी अति सुरक्षित गाड़ी ‘ द बिस्ट’ से समारोह स्थल तक आये. गौरतलब है इससे पूर्व परम्परानुसार गणतंत्र दिवस समारोह के मुख्य अतिथि राष्ट्रपति के साथ उनकी गाड़ी में राजपथ तक आते रहे हैं.

वायु सेना विमानों के हैरान कर देने वाले करतब के साथ गणतंत्र दिवस समारोह का समापन हुआ जिसमें एमआई-35 हैलीकॉप्टर, सुखोई के साथ कई और विमान शामिल थे.